5 Skills Offered By Architectural College

आर्किटेक्चर काॅलेजों में युवाओं की स्किल में आते है ये पांच जबरदस्त बदलाव | These Five Tremendous Changes Occur In The Skills Of Youth In Architecture Colleges

Architecture Colleges

आर्किटेक्चर(Architecture) की शिक्षा इस समय युवाओं की पहली पसंद बनती जा रही हैं। जिसका मुख्य कारण इस क्षेत्र में रोजगार के अनेक आयामों को बताया जा रहा हैं। फिलहाल दुनियाभर में इस समय शहरी करण और औद्योगिक करण तेजी बढ़ रहा हैं, जिनको सुव्यवस्थित तरीके से गति देने के लिए कई नवीन परियोजनाएं भी आ रही हैं। इतना ही नहीं कुछ देशों में इस समय नई और आकर्षक विल्डिंगों के निर्माण में होड लगी हुई हैं। जहां पर एक कुशल और पेशेवर आर्किटेक्चर की जरूरत हैं। फिलहाल वर्तमान समय में आर्किटेक्चर के क्षेत्र में आ रहे ताजा बदलावों को देखते हुए कुशल आर्किटेक्चर की मांग बढ़ गई है।

Table of Contents

आर्किटेक्चर करने के बाद स्किल में होने वाले लाभ | Benefits of Skills After Doing Architecture

आर्किटेक्चर करने वाले युवाओं में डिजाइन, निर्माण तकनीक और इंजीनियरिंग जैसे सिद्धांतों में एक कुशल विकास होता हैं। जो आने वाले समय युवाओं के लिए सफलता के कई आयामों को खोलता है। जिसको प्राप्त करके आर्किटेक्चर(Architecture) के युवा एक सुव्यवस्थित जीवन जी सकते हैं। जो इस प्रकार से हैं।

1. कैरियर में विभिन्न अवसर | Various Career Opportunities

Various Career Opportunities in Architecture Colleges

आर्किटेक्चर(Architecture) करने के बाद सबसे बडा लाभ यह होता हैं, कि आर्किटेक्चरर युवा को कैरियर बनाने के लिए बहुत अवसर मिलते हैं। जिनके क्षेत्र में आर्किटेक्चर फर्मों, निर्माण कंपनियां सहित कई सरकारी एजेंसियां शामिल हैं। वहीं अगर कोई आर्किटेक्चर का छात्र अपना स्वयं कार्य करना चाहता हैं, और अपना नाम इस क्षेत्र में बनाना चाहता है, तो खुद की आर्किटेक्चर फर्म शुरू कर सकता हैं। इसके साथ ही यहां पर अपने कौशल को रचनात्मकता के साथ गति भी दे सकता हैं।

2. बौद्धिक विकास | Intellectual Development

Intellectual Development in Architecture Colleges

आर्किटेक्चर करने वालों में बौद्धिक विकास रचनात्मक तरीके से होता हैं। क्योंकि इस क्षेत्र में एक कुशल आर्किटेक्चरर(Architecture) के लिए नवीनतम प्रयोग करने के लिए अधिक छूट मिलती हैं। जिससे इससे जुडे युवा नई डिजाइन की शैलियों के निमार्ण के लिए नये आयामों का प्रयोग करते हैं। जिससे कई नई डिजाइनों का आविष्कार होता हैं। जिसके लिए एक कुशल आर्किटेक्चरर को उसके नये हुनर के लिए पुरष्कारों से भी सम्मानित किया जाता हैं।

3. विदेशों में काम करने का मौका | Opportunity To Work Abroad

Opportunity To Work Abroad

आर्किटेक्चर एक ऐसा क्षेत्र है जिसकी मांग विश्व स्तर पर हमेशा से रही हैं। जिसके कारण इससे संबंधित युवाओं की मांग वैश्विक स्तर पर हमेंशा से होती रही हैं। इसलिए आर्किटेक्चर(Architecture) के युवाओं को अंतरराष्ट्रीय परियोजनाओं पर काम करने और विदेश में मूल्यवान कार्य अनुभव प्राप्त करने का भी अधिक मौका मिलता हैं। इसके साथ ही पोजेक्ट के दौरान आर्किटेक्चरर युवा को विदेशों में घूमने का भी मौका अधिक मिलता हैं। इतना ही नहीं हैं, इस दौरान इससे संबंधित युवाओं को आर्किटेक्चर के विविध संस्कृतियों और डिजाइन शैलियों से भी परिचित कराया जाता हैं। जिससे वह अपने ज्ञान में रचनात्मकता विकास करते हैं।

4. आर्किटेक्चर में डिजिटल टेक्नोलॉजी का उपयोग | Use Of Digital Technology In Architecture

Use Of Digital Technology In Architecture

आर्किटेक्चर इंडस्ट्री में नये आयामों का प्रयोग हमेशा से होता रहा हैं। क्योंकि नये आयामों के द्वारा ही किसी भवन या महल बिल्डिंग को लंबे समय के लिए बनाए जाने में सफलता मिलती हैं। वहीं वर्तमान समय में आर्किटेक्चर(Architecture) के क्षेत्र में लेटेस्ट डिजिटल टेक्नोलॉजी और सॉफ्टवेयर का उपयोग किया जा रहा हैं। जो विल्डिंगों को अद्वितीय और आकर्षक बनाने में मदद करते हैं।

5. हस्तांतरणीय कौशल का निर्माण | Building Transferable Skills

Building Transferable Skills In Architecture

आर्किटेक्चर(Architecture) की शिक्षा प्राप्त करने के बाद युवाओं में अधिक रचनात्मकता हो जाते हैं। जिससे जो कार्य वो करते हैं, उसको बहुत ही उच्च तरीके से खत्म करने का हुनर रखते हैं। इसके साथ ही आर्किटेक्ट्स को ड्राइंग और स्केचिंग करने, विभिन्न विचारों की कल्पना करके एक अनोखी और सुंदर चीज को बनाते हैं। जिसकी शिक्षा युवाओं को स्कूली दिनों में ही दे दी जाती हैं, जो उनके हुनर को और अधिक निखारने का काम करता हैं। इसके साथ ही कुछ अन्य कौशल का विकास होता हैं, जो इस प्रकार से हैं-

  • रणनीतिक और तार्किक सोच को अधिक विस्तार देते हैं।
  • संख्याओं की जटिलता को आसानी से हल करना
  • कार्य के दौरान आई कठिन समस्या को कम समय में समाधान करना
  • तनाव के बाद भी प्रोजेक्ट को खत्म करना
  • प्रोजेक्ट के संपन्न होने तक उससे गहनता के साथ जुडे रहना
  • नवीनतम डिजाइनों का प्रयोग करना

आर्किटेक्चर करने के बाद स्किल में होने वाले बदलाव | Changes In Skills After Doing Architecture

आर्किटेक्चर करने के बाद युवाओं के स्किल में अनेकों बदलाव आते है। जिसके बाद वो आगे अपना रास्ता तय करते है। बताया जाता हैं, कि आर्किटेक्चर(Architecture) करने के बाद युवाओं में रचनात्मक सोच बढती हैं, जो उनके कौशल को निखारने का काम करती हैं। जो इस प्रकार से हैं।

1. नये आविष्कार करने की क्षमता का विकास | Development of Ability To Make New Inventions

Development of Ability To Make New Inventions In Architecture fied

आर्किटेक्चर(Architecture) करने के बाद युवाओं में नये खोज करने की अधिक छमता हो जाती हैं। जिसे वह नई नई संस्कृति के साथ अपने प्रोजेक्ट को अतिम रूप देते हैं। साथ ही वह अपने प्रोजेक्ट के द्वारा हमेशा नई चुनौतियों से सीख भी लेते हैं। इसके साथ ही अपने प्रोजेक्ट के दौरान जो नई खोज को जमीनी स्तर पर उतारने का काम भी करते हैं, जिसका के्रडिट भी उस कुशल आर्किटेक्चरर को दिया जाता हैं।

2. टीम के रूप में काम करने की सीख | Learning To Work As a Team

Learning To Work As a Team

एक आर्किटेक्चरर को कोर्स फाइनल के बाद उसे टीम में काम करने की बहुत ही जरूरत होती हैं। क्योंकि इस फील्ड में एक टीम किसी भी प्रोजेक्ट को अंतिम रूप देने में एक टीम का बहुत योगदान होता हैं। इसलिए एक आर्किटेक्चरर को लंबे समय तक टीम में काम करने का समय मिलता हैं। जिससे वो एक टीम में दूसरों के साथ मिलकर आविष्कार और निर्माण करते हैं।

3. बिल्डिंग का डिजाइन और स्ट्रक्चर तैयार करना | Building Design And Structure Preparation

Building Design And Structure Preparation

एक कुशल आर्किटेक्चर(Architecture) का काम होता हैं, कि वह मिले प्रोजेक्ट के बिल्डिंग का डिजाइन और स्ट्राक्चर को क्लाइंट के मुताबिक तैयार करें। इसके साथ ही इस दौरान उसे यह भी ध्यान में रखाना होता है, कि प्रोजेक्ट तैयार करते समय उसे उसकी संस्कृति और तय मानको का भी ध्यान रखना होता हैं। जो उसके लिए एक चुनौती से कम नहीं होता हैं, जिसे वह कुशलता के साथ करता हैं।

4. निर्माण प्रक्रिया की निगरानी | Manufacturing Process Monitoring

Manufacturing Process Monitoring

आर्किटेक्चर का काम प्रोजेक्ट को जमीनी स्तर पर चालू करने के बाद से उसके निर्माण कार्य की निगरानी करने का भी होता हैं, कि उससे संबंधित काम हो रहा है, या नही। साथ ही यह भी ध्यान में रखना होता हैं, कि तय मानको पर किया जा रहा हैं या नहीं। क्योंकि एक आर्किटेक्चर को ही प्रोजेक्ट को फाइनल करके क्लाइंट को देने की जिम्मेदारी होती हैं।

5. लंबी सोंच के साथ इमारतों का निर्माण | Building Buildings With a Long View

Building Buildings With a Long View

आर्किटेक्चर का कार्य होता हैं, कि किसी भी पोजेक्ट की सबसे पहले संरचना बनाए इसके बाद उसका डिजाइन बनाएं। वहीं इस दौरान कहा जाता हैं, कि एक आर्किटेक्चरर को कई बातों का भी ध्यान रखना होता हैं, जो उस प्रोजेक्ट के साथ जुडे हुए होते हैं। जिसमें कार्यक्षमता, सुरक्षा और रचनात्मक दृष्टि शामिल होती हैं। इन्हीं बातों में जो अधिक ध्यान देने वाली होती हैं, यह होती हैं, कि प्रोजेक्ट की डिजाइन को भविष्य को देखते हुए आने वाले समय के अनुरूप रहे, इस प्रकार डिजाइन करना भी होता हैं। जो किसी चुनौती से कम नहीं होता हैं, जिस पर एक कुशल आर्किटेक्चर खरा उतरता हैं।

सार | Summary

कोई भी युवा जब आर्किटेक्चर का कोर्स फाइनल कर लेता हैं, तो उसके लिए इस फील्ड में कैरियर बनाने के लिए कई अवसर मिलते हैं, जिसमें रचनात्मक और बौद्धिक विकास जैसे कार्य भी शामिल होते हैं। इसके साथ ही इसमें युवाओं को व्यक्तिगत विकास और वैश्विक अवसरों सहित कई अन्य लाभ भी मिलते हैं। वहीं इस समय आर्किटेक्चर एक ऐसा क्षेत्र बन गया हैं, जिसकी मांग अधिक बढ़ रही है, जिसमें युवा अपना कैरियर बनाने के लिए आजाद हैं।