Interior Designer In Decorating A Home

घर को सजाने में इंटीरियर डिजाइनर की भूमिका और कार्य | The Role And Functions Of An Interior Designer In Decorating A Home

Interior Designer

इंटीरियर डिजाइनर(Interior Designer) के कुछ मुख्य कार्य होते हैं, जिनके माध्यम से वो घरों को सजाते हैं। इस कार्यों के मुख्य बिंदुओं की बात की जाए तो प्राथमिक काम में योजना बनाना, नई डिजाइन की रूपरेखा तैयार करना और रिहायशी मकानों, व्यावसायिक व अन्य इमारतों की सजावट करना जैसे कार्य शामिल होते हैं। इस दौरान इंटीरियर डिजाइनर को कॉन्ट्रैक्टर, आर्किटेक्ट व इंजीनियर समेत अनेक अन्य पेशेवर लोगों के साथ मिलकर कामों को अंजाम देना चाहिए। इसके साथ ही अपने कामों को अंजाम देते समय एक अच्छे इंटीरियर डिजाइनर को चाहिए कि उसे, ग्राहक से निरंतर बातचीत करते रहना चाहिए।

कौन होता हैं इंटीरियर डिजाइनर? | Who Is An Interior Designer?

Who Is An Interior Designer?

इंटीरियर डिजाइनर प्रमुखता के साथ डेकोरेशन से जुड़ी सेवाएं लोगों को देते हैं, जो मकान, इमारत, भवन में की जाती हैं, डेकोरेशन के माध्यम से एक इंटीरियर डिजाइनर(Interior Designer) खुबसूरत और आकर्षक लुक घर को देता हैं, जो इंटीरियर डिजाइनर का प्रमुख काम होता है। वहीं अगर इनके कार्य क्षेत्र की बात की जाए तो अब इनकी डिमांड केवल बड़े शहरों तक ही सिमित नही रह गई है, बल्कि छोटे शहरो, गांव आदि में भी इन्हें काम के अधिक अवसर प्राप्त हो रहे हैं।

इंटीरियर डिजाइनिंग के क्षेत्र के लिए जरूरी हुनर | Skills Required For Interior Designing

Skills Required For Interior Designing

एक कुशल इंटीयर डिजाइनर(Interior Designer) के अंदर यह क्षमता होनी चाहिए, कि उसे इंटीरियर डिजाइनिंग की तकनीकी बारिकियों को मैनेज करने के साथ-साथ अपने टीम के साथ तालमेल भी बनाए रखे। ऐसा करने से हमेशा किया हुआ कार्य बहुत अच्छा रिजल्ट देता हैं। इसके साथ ही इंटीरियर डिजाइनर में विजुअल समझ के साथ एक विश्लेषणात्मकता की समझ भी भरपूर होनी चाहिए। वहीं इंटीरियर डिजाइनर को हमेशा यह बात याद रखनी चाहिए कि उसे एक निर्धारित बजट में काम करना हैं। साथ ही उसे कलर, टेक्सचर व मटेरियल की सटीक जानकारी भी होना बहुत ही जरूरी हैं।

इंटीरियर डिजाइनर के चुनाव की शर्त | Terms Of Selection Of Interior Designer

Terms Of Selection Of Interior Designer

आज के समय में घर बनाने की परिभाषा ईट, सीमेंट और लकड़ी से बने ढांचे से काफी अलग हो गई हैं। इस समय घर का निर्माण करने के बाद उसे पूरी तरह से बना घर नहीं कहा या माना जा रहा हैं। क्योंकि इस समय पूरी तरह से घर उसे ही कहा जाता हैं, जब निर्माण के बाद घर को अनोखे तरीके से उसे सजाने के लिए पेशेवर इंटीरियर डिजाइनर(Interior Designer) से सेवाएं लिया जाता हैं। इसलिए इनके चुनाव के लिए निम्न तरीके की प्रक्रियाओं को अपनाना चाहिए।

  • सर्व प्रथम इंटीरियर डिजाइनर(Interior Designer) का चुनाव करते समय सबसे पहले कागजों पर नोट्स बनाएं। इसके बाद यह विचार करें कि इस प्रकार का डिजाइन कहां पर प्राप्त होगा।
  • इंटीरियर डिजाइन के बैकग्राउंड और पोर्टफोलियो को चेक करें। इसके बाद जब आप उस डिजाइन से सहमत हो जाए इसके बाद उस काम को फाइनल करें।
  • डिजाइन फाइनल होने के बाद आप अपना बजट निर्धारित करें। इसके बाद इंटीरियर डिजाइनिंग का कार्य प्रारंभ कर दें।

इंटीरियर डिजाइनिंग के दौरान घर को सजाते समय ध्यान देने वाली बातें | Things To Keep In Mind While Decorating The House During Interior Designing

Decorating The House During Interior Designing

अक्सर इंटीरियर डिजाइनर(Interior Designer) और डिजाइन फाइनल हो जाने के बाद लोगों को यह बातें परेशान करती है, कि घर की सजावट किस प्रकार और कैसे करें। इसके साथ ही इस दौरान यह भी एक समस्या रहती हैं, कि घर सजाने के दौरान किन बातों को प्रमुखता से ध्यान में रखे। तो आइए जानते हैं कि वे कौन सी बाते हैं, जिनका इटीरियर डिजाइनिंग कराते समय ध्यान में रखना चाहिए।

  • इंटीरियर डेकोरेशन के दौरान इस बात पर अधिक बल दिया जाना चाहिए कि घर के ज्यादा से ज्यादा स्थानों को कैसे प्रयोग में लाया जाए।
  • इंटीरियर डेकोरेशन के समय कोई भी बड़ा समान खरीदने से पहले उसके साइज को नापना बहुत जरूरी है। ताकि घर के कमरे की सजावट के दौरान कोई समस्या न पैदा होने पाए।
  • इंटीरियर डिजाइनिंग के दौरान सबसे महत्वपूर्ण होती है लाइट्स की सजावट। इसलिए घरों में लाइटों को लगवाने से पहले इस बात को ध्यान में रखें कि घर में लाइट्स किस तरह से लगवानी हैं, और किन किन स्थानों पर लगवानी बहुत ही लाभकारी होगा। उसके मुताबिक लाइट्स का सेटअप लगवाएं।
  • घर की सजावट करते समय इस बात का भी ध्यान रखें कि ज्यादा छोटे सामान से घरों को ना सजाएं, क्योंकि छोटे समानों से घर भरा-भरा सा लगने लगता हैं।
  • मकानों के बिंडों पर डार्क कलर के परदे लगाने से बचें। क्योंकि इससे घर में अंधेरा दिखेगा।
  • घर में पेंटिंग लगाते समय उसे अधिक ऊंचाई पर ना लगाएं।

इंटीरियर डिजाइनर के कार्य दौरान निभाई जाने वाली जिम्मेदारियां | Responsibilities Of An Interior Designer

Responsibilities Of An Interior Designer

इंटीरियर डिजाइनर(Interior Designer) स्वातंत्र रूप से या किसी कंपनी से जुड़कर काम करना होता हैं। इसके साथ ही कई बार ग्राहक की जरूरत के अनुसार भी कार्य करते हैं। वहीं आज के समय में कई डिजाइनर लंबे समय तक चलने वाली डिजाइन को पसंद करते हैं, जो आधुनिक परिवेश के साथ अच्छा होता हैं, और इको -फ्रेंडली भी। साथ ही इंटीरियर डिजाइनर के लिए यह बहुत ही आवश्यक होता हैं कि उसे बिल्डिंग कोड, यूनिवर्सल एक्सेसबिलटी स्टैंडर्ड व इन्पेक्शन रेगुलेशन जैसे चीजों के बारे में प्रयाप्त जानकारी रखना चाहिए।

इंटीरियर डिजाइनर को चाहिए कि वह कस्टमर को महत्व दें | Interior Designer Should Give Importance To The Customer

अगर आप का प्रोफेशन इंटीरियर डिजाइनर(Interior Designer) का हैं, तो डिजाइन का कार्य करते समय आपको कस्टमर के मन मुताबिक कार्य करना चाहिए। इसके साथ ही इंटीरियर डिजाइनिंग कार्य के दौरान कस्टमर और इंटीरियर डिजाइनर के बीच में ताल मेल बना रहना बहुत ही आवश्यक हैं। वहीं अगर किसी कार्य को कस्टमर कहता हैं, कि आप ये न करें तो उसे करने से इंटीरियर डिजाइन को बचना चाहिए।

आधुनिक और सर्वश्रेष्ठ इंटीरियर डिजाइन का चलन | Modern And Best Interior Design Trends

Modern And Best Interior Design Trends

आधुनिक और सर्वश्रेष्ठ इंटीरियर डिजाइन का चलन इस समय अधिक हैं, क्योंकि इनकी सहायता से घरों को आकर्षक बनाने का कार्य किया जाता हैं। इसके साथ ही एक जगह को आरामदायक बनाना आधुनिक इंटीरियर डिजाइन का उदेश्य हैं। वहीं आधुनिक और सर्वश्रेष्ठ इंटीरियर डिजाइन के मुख्य बिंदु इस प्रकार से हैं-

  • कस्टम लुक के लिए टाइल्स का प्रयोग करना
  • पैटर्न डिजाइन को अपनाना
  • नकली दर्पण खिड़की का सामंजस्यता के साथ प्रयोग
  • मैट फिनिश के साथ स्टेनलेस स्टील का प्रयोग
  • एकत्रित की गई चीनी वस्तुओं का डिजाइन के लिए प्रयोग करना
  • आधुनिकाता वाली इंटीरियर डिजाइन के माध्यम से कैबिनेट के साथ रेडिएटर छुपाए
  • अपनी कला बनाना
  • सीढ़ियों को पेंट करना
  • भित्ति चित्र का प्रयोग करके
  • वॉलपेपर के साथ सामान्य जगहों को जीवंत बनाना

सार | Summary

इंटीरियर डिजाइनर का कार्य घर को एक नया रूप देना होता हैं। यह कम स्पेस वाले घर को स्पेस युक्त बनाने के साथ साथ निर्माण हो चुके घर को एक नया आकार और खूबशूरत बनाने का भी कार्य करता हैं। इसलिए आज के समय एक इंटीरियर डिजाइनर की उपयोगिता अधिक होने लगी हैं। क्योंकि इनकी सहायता से लोग अपने घरों को नये रूप में डेकोरेट करने का कार्य करते हैं। इसलिए इनकी कार्यों की मदद से आप भी अपने घरों को नया आकार और स्वारूप दें सकते हैं।