जमीन खरीदने से पहले कौन-कौन से दस्तावेज़ देखने चाहिए?

Priyanka Mishra

खसरा और खतौनी:

जब हम किसी भी जमीन की खरीद करते हैं, तो हमें उसका खसरा और खतौनी देखना चाहिए। खसरा और खतौनी विवरण जमीन के मालिक, उसका पता, और उसके आकार के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करते हैं।

सम्पत्ति के स्वामित्व के प्रमाणपत्र:

जब हम जमीन खरीदते हैं, तो सम्पत्ति के स्वामित्व के प्रमाणपत्र की जाँच करना अत्यंत महत्वपूर्ण है। यह हमें यह साबित करने में मदद करता है कि सम्पत्ति किसके नाम है और क्या उस पर किसी भी प्रकार का विवाद है।

सम्पत्ति का नामांतरण प्रमाणपत्र:

जमीन की खरीद के समय हमें सम्पत्ति का नामांतरण प्रमाणपत्र भी देखना चाहिए। इससे हमें यह पता चलता है कि सम्पत्ति का पिछला और वर्तमान मालिक कौन है।

जमाबंदी रिपोर्ट:

जमाबंदी रिपोर्ट भी जमीन के खरीद के समय देखने योग्य दस्तावेज़ों में से एक है। यह रिपोर्ट जमीन की स्थिति, उस पर लगे अधिकारों, और उसके बारे में अन्य महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करती है।

वास्तु और निर्माण अनुमतियां:

अगर हम जमीन पर नया निर्माण करने की योजना बना रहे हैं, तो हमें उसकी वास्तु और निर्माण अनुमतियां भी देखनी चाहिए। यह हमें यह सुनिश्चित करने में मदद करता है कि हम जमीन पर निर्माण करने के लिए कितनी स्थिति में हैं।

खाता संख्या:

खाता संख्या दस्तावेज़ यह सुनिश्चित करता है कि संबंधित सरकारी विभागों के पास जमीन की आधिकारिक रिकॉर्ड है।

दस्तावेज़ की सत्यता प्रतिज्ञापत्र:

अन्य दस्तावेज़ के साथ, एक सत्यता प्रतिज्ञापत्र भी आवश्यक है। इसमें विक्रेता जमीन के बारे में सभी माहिती सत्य है और उन्होंने उसमें कोई भ्रांति नहीं की है, यह स्पष्ट करता है।

जिला नक्शा:

जिला नक्शा देखने से आप जमीन की स्थिति, परिसर और आसपास के विकास को समझ सकते हैं। यह आपको उस स्थान के भविष्य की योजना और अनुमानित मूल्य के बारे में भी जानकारी देता है।

Next: Renovate Your Bathroom with These Equipment’s In 2024